Chapter= 05 समकालीन दक्षिण एशिया Contemporary South Asia 12 class political science notes

Chapter= 05 समकालीन दक्षिण एशिया Contemporary South Asia 12 class political science notes



✳️ भारत दक्षिण एशिया का प्रमुख देश है । इसके पड़ोसी पाकिस्तान , नेपाल , भूटान , बांग्लादेश , श्रीलंका तथा मालदीव इस क्षेत्र के अन्य देश हैं । 

✳️ अफगानिस्तान तथा म्यांमार को भी कई बार इस क्षेत्र का देश मान लिया जाता है । 

✳️ चीन को दक्षिण एशिया का देश नहीं माना जाता । 

✳️ उत्तर की विशाल हिमालय पर्वत श्रृंखला , दक्षिण का हिंद महासागर , पश्चिम का अरब सागर और पूरब में मौजूद बंगाल की खाड़ी दक्षिण एशिया को भौगोलिक विशिष्टता प्रदान करते हैं । 

✳️ दक्षिण एशिया के विभिन्न देशों में एक सी राजनीतिक प्रणाली नहीं है : 

* भारत और श्रीलंका में आजादी के बाद से लोकतंत्र है । 
* पाकिस्तान और बांग्लादेश में कभी लोकतंत्र और कभी सैन्य शासन रहा नेपाल में 2006 तक संवैधानिक राजतंत्र था और बाद में लोकतंत्र की बहाली हुई है । 
* भूटान में राजतंत्र है । 
* मालदीव सन् 1968 तक सल्तनत हुआ करता था । अब यहाँ लोकतंत्र है । 
✳️PART-A समकालीन विश्व मे राजनीति✳️

• Chapter 1 शीत युद्ध का दौर
• Chapter 2 दो ध्रुवीयता का अंत
 Chapter 3 समकालीन विश्व में अमरीकी वर्चस्व 
• Chapter 4  सत्ता के वैकल्पिक केन्द्र
• Chapter 5 समकालीन दक्षिण एशिया
• Chapter 6 अंतरराष्ट्रीय संगठन 
• Chapter 7 समकालीन विश्व में सुरक्षा 
• Chapter 8 पर्यावरण और प्राकृतिक संसाधन
• Chapter 9 वैश्वीकरण 



✳️PART-B राजनीति विज्ञान✳️


• Chapter 10 राष्ट्र निर्माण की चुनौतियाँ
• Chapter 11 एक दल के प्रभुत्व का दौर 
• Chapter 12 नियोजित की राजनीति 
• Chapter 13 भारत के विदेश संबंध 
• Chapter 14  कांग्रेस प्रणालीः चुनौतियाँ व पुर्नस्थापना
• Chapter 15 लोकतांत्रिक व्यवस्था का संकट
• Chapter 16 जन आंदोलन का उदय 
• Chapter 17 क्षेत्रीय आकांक्षाये 

• Chapter 18 भारतीय राजनीति में नए बदलाव
✳️ दक्षिण एशिया के लोग लोकतंत्र को अच्छा मानते है और प्रतिनिधिमूलक लोकतंत्र की संस्थाओं का समर्थन करते हैं । 

✳️ दक्षिण एशिया के लोकतंत्र के अनुभवों से लोकतंत्र के बारे में प्रचलित यह भ्रम टूट गया कि लोकतंत्र सिर्फ विश्व के धनी देशों में फल - फूल सकता हैं । '

✳️ पाकिस्तान की राजनीतिक व्यवस्था में सेना बहुत प्रभावशाली है । यही कारण है कि यहाँ बार - बार सैन्य शासन लोकतंत्र को कुचलता रहा है । ऐसा ही बांग्लादेश में भी हुआ है ।

✳️ सर्वप्रथम देश की बागडोर जनरल अयूब खान ने ली फिर जनरल याहिया खान तत्पश्चात जनरल जिया - उल - हक और 1999 में जनरल परवेज मुशर्रफ ने जनता द्वारा निर्वाचित सरकार को हटाकर सैनिक शासन की स्थापना की । 

✳️ कुछ समय के लिए अवश्य जुल्फिकार अली भुट्टो , बेनजीर भुट्टो तथा नवाज शरीफ के नेतृत्व में पाकिस्तान में लोकतांत्रिक सरकार कार्यरत रही । वर्तमान में नवाज शरीफ के नेतृत्व में पाकिस्तान में लोकतांत्रिक सरकार कायम है । 

✳️ नेपाल में लम्बे समय तक राजा और लोकतंत्र समर्थकों में जद्दोजहद चलती रही है । अब वहाँ कि राजनीति में माओवादी भी बहुत प्रभावी हो गये हैं । 

✳️ नेपाल में राजा की सेना , लोकतंत्र समर्थको और माओवादियों के बीच लम्बे त्रिकोणीय संघर्ष का परिणाम यह रहा कि नेपाल के द्वारा वर्तमान में अपनाए गए संविधान के तहत खड्ग प्रसाद शर्मा ओली अक्टूबर 2015 से नेपाल के नए प्रधानमंत्री है । 

✳️ श्रीलंका को 1948 में स्वतंत्रता प्राप्त हुई । श्रीलंका एक सफल लोकतंत्र और सामाजिक , आर्थिक क्षेत्रों अपनी अच्छी स्थिति के बावजूद सिंहली और तमिल समुदायों के जातीय संघर्ष का शिकार रहा है । सिहली श्रीलंका के मूल निवासी थे तथा तमिल जो भारत से जाकर श्रीलंका जा बसे । 

✳️ यह संघर्ष मुख्य रूप से तमिलों द्वारा श्रीलंका में अलग राष्ट्र की मांग एवं संसाधनों पर अधिकार के लिए था , वहीं दूसरी ओर सिंहली समुदाय द्वारा लगातार उनकी इस मांग का विरोध किया जाता रहा । 

✳️ मई 2009 में श्रीलंकाई सेना द्वारा लिट्टे ( LTTE ) प्रमुख प्रभाकरन के मारे जाने के पश्चात श्री लंका में वर्षों से चले आ रहे गृह युद्ध की समाप्ति हुई । 

✳️ दक्षिण एशिया के दो बड़े देशों भारत और पाकिस्तान के आपसी संबंध शुरू से ही तनावपूर्ण है इनके बीच 1947 - 48 , 1965 , 1971 तथा 1999 में सैन्य संघर्ष हो चुके हैं । 

✳️ दक्षिण एशियाई देशों में भारत ही एकमात्र ऐसा देश है जिसकी अन्य सभी देशों से सीमाएं लगती है । इसके कारण भारत के इन देशों के साथ कुछ मुद्दों पर मतभेद हैं तो बहुत से क्षेत्रों में सहयोग भी ।

✳️ दक्षिण एशियाई देशों ने आपस में सहयोग के लिए सन् 1985 में दक्षेस ( SAARC - साउथ एशियन एसोशियन फॉर रिजनल कोऑपरेशन ) की स्थापना की । 

✳️ 2005 में 13वें सार्क शिखर सम्मेलन ढाका में अफगानिस्तान को सार्क में शामिल करने पर सहमति बनी । 2007 के 14वें शिखर सम्मेलन ( नई दिल्ली ) में अफगानिस्तान पहली बार सार्क शिखर सम्मेलन में शामिल हुआ । 

✳️ वैश्वीकरण के दौर में हुए सार्क सम्मेलनों में जलवायु परिवर्तन , आपदा प्रबन्धन एवं आतंकवाद की समाप्ति संबंधी तथा इस क्षेत्र में व्यापार एवं विकास को बढ़ावा देने हेतु कई समझौतो पर हस्ताक्षर हुए हैं । 

✳️ व्यापार को बढ़ावा देने के लिए दक्षिण एशिया मुक्त व्यापार क्षेत्र समझौता ( SAFTA ) पर 2004 में हस्ताक्षर हुए तथा यह 1 जनवरी 2006 से प्रभावी हो गया । 

✳️ सार्क का 18वाँ शिखर सम्मेलन 26 - 27 नवम्बर 2014 को नेपाल की राज पानी काठमांडू में सम्पन्न हुआ जिसका विषय शांति एवं समृद्धि के लिए प्रतिबद्ध एकजुटता था । 

✳️ भारत के अपने पेड़ोसी देशों के साथ जिनमें पाकिस्तान , नेपाल , बांग्लादेश एवं श्रीलंका प्रमुख है , इनमें से यदि पाकिस्तान को छोड़ दिया जाये तो बाकी राष्ट्रों के साथ भारत के संबंध कमोबेश मधुर बने हुए हैं । 

✳️ BIMSTEC ( Bay of Bengal Intiative for multi sectoral Technical and Economic Cooperation ) बंगाल की खाड़ी बहु - क्षेत्रीय तकनीकी और आर्थिक सहयोग उपक्रम इसके सदस्य देश , बांग्लादेश , भारत , बर्मा , श्रीलंका , थाईलैण्ड , भूटान और नेपाल है । 

✳️ वर्तमान में भारत बिम्सटेक ( BIMSTEC ) पर अधिक बल दे रहा है , इसके वरिष्ठ अधिकारियों की 17 वीं बैठक फरवरी 2017 में काठ मांडू ( नेपाल ) में आयोजित की गई । इस बैठक में व्यापार और निवेश , उर्जा प्रौद्योगिकी , मत्सयपालन , जलवायु , परिवर्तन , संस्कृति , लोगों के बीच संपर्क और अन्य क्षेत्रों के बारे में चर्चा की गई ।


✳️PART-A समकालीन विश्व मे राजनीति✳️

• Chapter 1 शीत युद्ध का दौर
• Chapter 2 दो ध्रुवीयता का अंत
 Chapter 3 समकालीन विश्व में अमरीकी वर्चस्व 
• Chapter 4  सत्ता के वैकल्पिक केन्द्र
• Chapter 5 समकालीन दक्षिण एशिया
• Chapter 6 अंतरराष्ट्रीय संगठन 
• Chapter 7 समकालीन विश्व में सुरक्षा 
• Chapter 8 पर्यावरण और प्राकृतिक संसाधन
• Chapter 9 वैश्वीकरण 



✳️PART-B राजनीति विज्ञान✳️


• Chapter 10 राष्ट्र निर्माण की चुनौतियाँ
• Chapter 11 एक दल के प्रभुत्व का दौर 
• Chapter 12 नियोजित की राजनीति 
• Chapter 13 भारत के विदेश संबंध 
• Chapter 14  कांग्रेस प्रणालीः चुनौतियाँ व पुर्नस्थापना
• Chapter 15 लोकतांत्रिक व्यवस्था का संकट
• Chapter 16 जन आंदोलन का उदय 
• Chapter 17 क्षेत्रीय आकांक्षाये 

• Chapter 18 भारतीय राजनीति में नए बदलाव

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »