CBSE Class 12th History Question Paper 2017 with Answer in Hindi important question

Share:

CBSE Class 12th History Question Paper 2017 with Answer in Hindi  important questionसी . बी . एस . ई प्रश्न पत्र 2017 ( इतिहास )


निम्नलिखित सभी प्रश्नों के उत्तर दीजिए :

प्रश्न 1.  विशिष्ट परिवारों में पितृवंशिक व्यवस्था 600 ई . पू . से 600 ई . तक महत्त्वपूर्ण क्यों थी ? स्पष्ट कीजिए ।

उत्तर 1. ( ए ) पितृवंशिकता महाभारत से पहले ही धनी वर्ग और ब्राह्मणों के बीच प्रचलित था , जिसका उदाहरण ऋग्वैदिक मंत्रों में भी मिलता है । 
( बी ) महाभारत के मुख्य कथावस्तु ने इस आदर्श को सुदृढ़ किया । 
( सी ) यह उत्तरधिकार के नियमों को पारिभाषित करता था , जिसमें लचीलापन था पुत्र में अभाव में बांधव को भी उत्तराधिकारी बनाया जा सकता था । 
( डी ) अधिकतर सत्ताधारी वंश ने इस व्यवस्था को अपनाया ।


प्रश्न 2. मीराबाई ने जाति व्यवस्था के प्रतिमानों का किस प्रकार विरोध किया ? परख कीजिए ।

उत्तर 2. ( ए ) मीरा राजपूत कन्या थी , तथा उसके गुरु रैदास चर्मकार जाति के थे । 
( बी ) विभिन्न जातियों के बीच प्रेरणा के स्रोत , गुजरात और राजस्थान के गरीब उन्हें ' नीची जाति ' का समझते थे ।


प्रश्न 3. अमेरिका के गृह युद्ध का ब्रिटेन के कपास के निर्यात पर क्या प्रभाव पड़ा ?

उत्तर 3. ( ए ) अमेरिका से ब्रिटेन के कपास आयात में भारी गिरावट आयी । 
( बी ) भारत से ब्रिटेन को कपास भेजा जाने लगा ।


खण्ड - ख 

निम्नलिखित में से किन्हीं पाँच प्रश्नों के उत्तर दीजिए : 

प्रश्न 4. " छठी से चौथी शताब्दी ई . पू . के बीच मगध शक्तिशाली महाजनपद बन गया । " इस कथन को प्रमाणित कीजिए ।

उत्तर 4. मगध के शक्तिशाली महाजनपद बनने के कारण 
( ए ) मगध क्षेत्र में कृषि उत्पादकता अधिक थी । 
( बी ) खदानों में लोहे की प्रचुरता जो शस्त्र बनाने की प्रमुख धातु थी । 
( सी ) मगध के जंगलों में हाथी मिलती थी , जो सेना को ताकत प्रदान करती थी । 
( डी ) गंगा और उसकी सहायक नदियाँ , जल परिवहन के मार्ग उपलब्ध करवाते थे । 
( ई ) राजधानी ' राजग्रह ' पहाड़ों के बीच किलेबंद थी , तथा बाद की राजधानी पाटलिपुत्र प्रमुख राजमार्ग और गंगा के किनारे स्थित थी । 
( फ ) योग्य , शक्तिशाली और महत्वाकांक्षी शासक , जैसे बिम्बिसार व अजातशत्र ।


प्रश्न 5. महाभारत एक गत्यात्मक रचना है ?

उत्तर 5. ( ए ) महाभारत का विकास संस्कृत के पाठ के साथ ही समाप्त नहीं हो गया । 
( बी ) शताब्दियों से इस महाकाव्य के अनेक पाठान्तर भिन्न - भिन्न भाषाओं में लिखे गए । 
( सी ) अनेक कहानियाँ जिनका उद्भव एक क्षेत्र विशेष में हुआ और जिनका लोगों के बीच प्रकार हुआ , ? वे सब इस महाकाव्य में सामाहित कर ली गयी । 
( डी ) इस महाकाव्य की मुख्य कथा की अनेक पुनर्व्याख्याएँ की गई । 
( ई ) इसके प्रसंगों को मूर्तिकला और चित्रों में भी दर्शाया गया । 
( फ ) इस महाकाव्य ने नाटकों और नृत्य कलाओं के लिए भी विषय वस्तु प्रदान की गयी ।


प्रश्न 6. विजयनगर शहर तथा साम्राज्य के इतिहास का पुनर्निर्माण किस प्रकार हुआ था ? स्पष्ट कीजिए ।

उत्तर 6. ( ए ) हम्पी के भग्नावशेष एक अभियंता तथा पुरातत्वविद कर्नल मैकेजी के द्वारा 1800 ई . में प्रकाश में लाए गए । 
( बी ) उन्होंने इस स्थान का पहला सर्वेक्षण मानचित्र तैयार किया । 
( सी ) उनके द्वारा हासिल जानकारियाँ शुरुआती स्तर पर विरुपाक्ष मन्दिर तथा पम्पादेवी के पूजास्थल के पुरोहितों की स्मृतियों पर आधारित है । 
( डी ) 1836 ई . में अभिलेकर्ताओं ने कई मन्दिरों से कई दर्जन अभिलेख संग्रहित किए । 
( ई ) इतिहासकारों ने उन स्रोतों का विदेशी यात्रियों के वृतांतों तथा तेलगु , कन्नड़ , तमिल और संस्कृत में लिखे साहित्यों से मिलान किया ।


प्रश्न 7. मुगल साम्राज्य में शाही परिवार की जटिल संख्या की जाँच कीजिए ।

उत्तर 7. ( ए ) मुगल शाही परिवार में बादशाह की पत्नियाँ , उपपत्नियों , उसके दूर और नजदीक के रिश्तेदार महिला परिचारिकाएँ व गुलाम शामिल होते थे । 
( बी ) विवाह राजनैतिक व मैत्री संबंध बनाने का एक तरीका था । 
( सी ) विवाह में पुत्री को भेंट स्वरूप दिए जाने के साथ प्रायः एक क्षेत्र भी उपहार में दिया जाता था । 
( डी ) इसमें विभिन्न शासक वर्गों के बीच प्रदानक्रमिक संबंध सुनिश्चित की जाती थी । 
( ई ) इस तरह के विवाह और उनके फलस्वरूप विकसित संबंध के कारण ही मुगल बंधुता के एक व्यापक तंत्र का निर्माण कर सके । 
( फ ) इससे उन्हें एक बृहद साम्राज्य को इकट्ठा रखने में मदद मिली । 
( च ) मुगल परिवार में शाही परिवार में आने वाली स्त्रियों ( बेगमों ) और अन्य स्त्रियों ( अगहा ) जिनका जन्म कुलीन परिवार में नहीं हुआ था में अन्तर रखा जाता था ।


प्रश्न 8. साहूकारों जमींदारों और औपनिवेशिक राज्य के विरुद्ध संथाल विद्रोह के कारणों की व्याख्या कीजिए ।

उत्तर 8. ( ए ) संथालों के नियंत्रण वाली भूमि पर सरकार ( राज्य ) भारी कर लगा रही थी । 
( बी ) साहूकार ( दिकू ) बहुत ऊंची दर पर ब्याज लगा रहे थे । तथा कर्ज न अदा करने की स्थिति में जमीन पर कब्जा कर देते थे । 
( सी ) जमींदार लोग दामिन इलाके में अपने नियंत्रण कर दावा कर रहे थे । 
( ई ) संथाल लोग महसूस करने लगे एक आदर्श संसार का निर्माण , जहाँ उनका अपना शासन हो , जमींदार , साहूकार और औपनिवेशक राज्य के खिलाफ विद्रोह अनिवार्य है । 
( ई ) संथालों ने 1855 - 56 में विद्रोह किया । ( फ ) विद्रोह के परिणामस्वरूप संथाल परगना का निर्माण हुआ । 


प्रश्न 9. " चपारन , खेड़ा और अहमदाबाद में की गई पहल के गाँधीजी एक ऐसे राष्ट्रवादी नेता के रुप में उभरे जिनमें गरीबों के लिए गहरी सहानुभूति थी " । इस कथन की परख कीजिए ।

उत्तर 9. ( ए ) चंपारण का सत्याग्रह किसानों के लिए काश्तकारी सुरक्षा के साथ - साथ अपने पंसद का फसल उगाने से सम्बन्धित था । 
( बी ) अहमदाबाद का आंदोलन कपड़े के मिलों में काम करने वाले लोगों के लिए काम करने की बेहतर स्थिति की मांग की । 
( सी ) खेड़ा में किसानों का फसल चौपट होने पर राज्य के किसानों का लगान माफ करने की मांग की ।
( डी ) चंपारन , खेड़ा और अहमदाबाद के बाद गाँधीजी एक राष्ट्रवादी के रूप में उभरे जिसका गरीबों के प्रति सहानुभूति थी ।


खण्ड - ख 
मूल्य आधारित प्रश्न ( अनिवार्य ) "

प्रश्न 10.  विद्रोह के नेताओं को ऐसे नायकों के रूप में पेश किया जाता था जो देश को रणस्थल की तरफ ले जा रहे हैं । उन्हें लोगों को दमनकारी साम्राज्यकारी शासन के खिलाफ़ उत्तेजित करते हुए चित्रित किया जाता था । एक हाथ में तलवार और दूसरे हाथ में घोड़े की रास थामे अपनी मातृभूमि की मुक्ति के लिए लड़ाई लड़ने वाली रानी झाँसी के शौर्य का गौरवगान करते हुए कतिवताएँ लिखी गई । रानी झाँसी को एक ऐसी मर्दाना खख्यित के रूप में चित्रित किया जाता था जो दुश्मनों  का पीछा करते हुए और ब्रिटिश सिपाहियों को मौत की नींद सुलाते हुए आगे बढ़ रही है । 

" उपर्युक्त अनुच्छेद को पढ़िए और उन मूल्यों को उजागर , कीजिए , जिन्हें रानी झाँसी ने प्रोत्साहन दिया । 

उत्तर 10. ( ए ) देशभक्ति 
( बी ) सम्यक् कर्म ( सही कार्य ) 
( सी ) दमन के खिलाफ लड़ाई 
( डी ) मातृभूमि से प्यार


 खण्ड - ग 

दीर्घ उत्तरीय प्रश्न " 

प्रश्न 11. हड़प्पावासी शिल्प उत्पादन हेतु माल प्राप्त करने के लिए विभिन्न तरीके अपनाते थे । " इस कथन के संदर्भ में शिल्प उत्पादन के लिए कच्चा माल प्राप्त करने के तरीकों को स्पष्ट कीजिए । 

अथवा 

हड़प्पा सभ्यता का सबसे अनूठा पहलू शहरी केन्द्रों का विकास था । " स्पष्ट कीजिए ।

उत्तर 11. ( ए ) हड़प्पा वासी शिल्प उत्पादन हेतु माल प्राप्त करने के लिए कई तरीके अपनाते थे । 
( ए ) जहाँ कच्चा माल उपलब्ध था बस्तियों की स्थापना 
( बी ) जहाँ सामान की उपलब्धता थी वहाँ अभियान भेजना 
( सी ) माल प्राप्त के लिए मेसोपोटामिया जैसे सुदूर क्षेत्रों से सम्पर्क बनाना 
( 2 ) नागेश्वर और बालाकोट में शंख की उपलब्धता के चलते बस्तियों की स्थापना की । 
( 3 ) अन्य पुरास्थल थे आफगानिस्तान में शोर्तुघुई जो लाजवर्द पत्थर के स्रोत के निकट स्थित था । 
( 4 ) लोथल कार्निलियन , सेलखड़ी धातु के स्रोत के निकट स्थित था । ( 5 ) राजस्थान के खेतड़ी में तांबे की प्राप्ति के लिए अभियान भेजते थे । 
( 6 ) दक्षिण भारत में सोने प्राप्त करने के लिए अभियान भेजते थे । 
( 7 ) इन अभियानों के माध्यम से स्थानीय समुदायों से सम्पर्क स्थापित किया जाता था । 
( 8 ) तांबा ओमान से भी मांगाया जाता था । 
( 9 ) ऐसा विश्वास किया जाता है , कुछ सामानों की प्राप्ति के लिए मेसोपोटामिया से भी सम्पर्क बनाया गया था ।

अथवा 

( 1 ) शहरी क्षेत्र दो भागों में बंटे थेः 
( ए ) छोटा किन्तु ऊँचा ( दुर्ग ) 
( बी ) बड़ा परन्तु निचला शहर ( आम शहर ) 
( 2 ) दोनों भागों की अलग - अलग चहारदिवारी की गयी थी । 
( 3 ) कई भवनों को ऊंचे चबूतरे पर बनाया गया था , जो नींव का काम करते थे । 
( 4 ) ईट एक निश्चित अनुपात में होता था , जिसे सुखाकर ( धूप में ) या आग में पकाकर बनाया जाता था । 
( 5 ) सबसे अनूठी विशिष्टता ध्यानपूर्वक नियोजित जल निकास प्रणाली थी । 
( 6 ) सड़के और गलियां ग्रिड - पद्धति पर बनी थी । 
( 7 ) निचला शहर आवासीय शहर था , जो एक आंगन पर केन्द्रित होता था , तथा इसके चारों ओर कमरे बने थे । 
( 8 ) पहले सड़क और नालियों का निर्माण हुआ उसके बाद घरों का । 
( 9 ) आँगन खाना बनाने और कताई जैसी गतिविधियों का केंद्र था । 
( 10 ) लोग एकांकता को महत्त्व देते थे , भूमितल पर बनी दिवारों में खिड़कियाँ नहीं है , तथा मुख्य द्वार से घर के आंतरिक भाग अथवा आंगन का अवलोकन नहीं होता । 
11 . हर घर का ईटों की फर्श से बना स्नानघर होता था , जिसकी नालियाँ दिवार के माध्यम से सड़क की नालियों से जुड़ी थी ।

PART 2 COMING SOON